0

कांग्रेस, जेजेपी और आप मिलकर कर देंगे बीजेपी का सुपड़ा साफ।
हरियाणा में लोकसभा चुनाव को लेकर अभी बीजेपी का पलड़ा भारी नजर आ रहा है। दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल भाजपा को रोकने के लिए हरियाणा में भी महागठबंधन बनाने पर जोर दे रहे हैं। कांग्रेस, जेजेपी और आम आदमी पार्टी का वोट मिलकर भाजपा से ज्यादा बनता है। इस महागठबंधन से हरियाणा में भाजपा का सूपड़ा साफ कर सकता है। दिल्ली में कांग्रेस के साथ गठबंधन करने में सफलता हासिल करने के बाद अरविंद केजरीवाल का अगला लक्ष्य हरियाणा में महागठबंधन बनाना है। दिल्ली में कांग्रेस और आप के बीच लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला हो चुका है। अब केजरीवाल का अगला लक्ष्य हरियाणा में महागठबंधन कायम करना है। कांग्रेस, जेजेपी और आप ने अलग -अलग चुनाव लड़ा दो भाजपा तीनों को आराम से पराजित कर देगी। दीपेंद्र हुड्डा, दुष्यंत चौटाला, कुमारी सैलजा, अशोक तंवर, श्रुति चौधरी जैसे बड़े नेताओं के लिए भाजपा बड़ी परेशानियां खड़ी कर रही है। अगर हरियाणा में कांग्रेस, जेजेपी और आम आदमी पार्टी मिलकर महागठबंधन बनाते हैं तो पूरे प्रदेश की सियासी तस्वीर एक ही झटके में बदल जाएगी। जींद उपचुनाव के आधार पर कहा जा सकता है कि कांग्रेस, जेजेपी और आम आदमी पार्टी का वोट बैंक बीजेपी से ज्यादा हो जाता है। अगर तीनों दलों ने महागठबंधन बनाकर लोकसभा चुनाव लड़ा तो दसों सीटें जीतकर वह भाजपा का सूपड़ा भी साफ कर सकता है।

Post a Comment

 
Top