0
राष्ट्रपति ने किया इरफान का सम्मान, घर आए 6 आतंकियों से भिड़ गए थे अकेले
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में शौर्य पुरस्कारों का वितरण किया। इस दौरान राष्ट्रपति ने जम्मू-कश्मीर के शोपियां में रहने वाले इरफान रमजान शेख को शौर्य चक्र से नवाजा। इरफान जब 14 साल के थे, तब पापा की जान खतरे में देखकर वे अकेले और निहत्थे ही घर में घुस आएहिज्बुल मुजाहिदीन के 6 आतंकियों से भिड़ गए थे। इस दौरान उन्होंने एक आतंकी को मार गिराया था और अपने भाई-बहनों की जान बचा ली थी। हालांकि उनके पापा को वे नहीं बचा पाए थे और उनका देहांत हो गया।



16 अक्टूबर 2017 को घर पर आ पहुँचे आतंकियों से राइफल छीनकर उन्होंने एक आतंकी को मार गिराया था। ये देख घर में घुस आए बाकी के 2 आतंकी और घर के बाहर खड़े 3 आतंकी अपनी जान बचाकर भाग निकले थे। हमले में इमरान अपने पापा मोहम्मद रमजान शेख को नहीं बचा पाए थे। लेकिन अपने तीन भाई-बहनों को बचाने में कामयाब रहे थे। इस घटना के बाद उनके परिजनों को सुरक्षाबलों ने सेफ हाउस में भेज दिया था।





                                     राष्ट्रपति ने किया इरफान का सम्मान, सम्मान विडीयो

Post a Comment

 
Top